spot_img
HomenewsPoliticsअपने इस विवादित बयान की वजह से फंसे धन सिंह रावत, मामला...

अपने इस विवादित बयान की वजह से फंसे धन सिंह रावत, मामला दर्ज

जयपुर- विधानसभा और राज्यसभा चुनावों में चुनाव आचार संहिता को बनाए रखने और उल्लंघन पर सख्त रुप दिखाते हुए राजस्थान के एक बीजेपी मंत्री के खिलाफ चुनाव आयोग द्वारा एफआईआर दर्ज करवाई गई। दरअसल राजस्थान के ग्रामीण विकास राज्य मंत्री ने हाल ही में एक बयान दिया था जिसमें उन्होंने हिंदुओं से एकत्रित होकर वोट देने के लिए कहा था। इस विवादित बयान पर चुनाव आयोग ने कार्रवाई करते हुए धन सिंह रावत को पत्र भेजकर तीन दिन मेें जवाब मांगा था, पर मंत्री ने कोई जवाब नहीं दिया, जिसके बाद चुनाव आयोग ने मंत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी।

जोश-जोश में ये बोल गए थे धन सिंह रावत

राज्य मंत्री धन सिंह रावत करीब पांच दिन पहले बीजेपी की एक जनसभा में शामिल हुए थे। जब उनसे मंच पर बोलने के लिए कहा गया तो राज्य मंत्री जोश में अपने होश खो बैठे और बिना सोचे-समझे बोलते ही चले गए। जनसभा में बीजेपी नेता ने कहा था कि अगर सभी मुसलमान एक साथ एकत्रित हो सकते हैं और वोटों का फैसला भी आपसी सहमति से कर सकते हैं तो हिंदू ऐसा क्यों नहीं कर सकते। उन्होंने कहा था कि सभी हिंदुओं को मिलकर बीजेपी पार्टी को वोट देना चाहिए।

कांग्रेस ने साधा निशाना

चुनाव आचार संहिता के अनुसार किसी भी चुनाव प्रचार के दौरान किसी भी नेता को धर्म या इससे जुड़े विषयों पर वोट मांगने की इजाजत नहीं दी जाती और इसका उल्लंघन करने पर चुनाव आयोग राजनैतिक पार्टियों पर कार्रवाई भी कर सकता है। धन सिंह रावत के विवादित बयान पर प्रदेश के गृहमंत्री ने कहा कि वोटर्स के लिए हिंदू-मुसलमान नहीं होता सिर्फ वोट देना वाला देश का नागरिक होना चाहिए। गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि हम किसी भी मंत्री के ऐसे बयानों का समर्थन नहीं करते।