spot_img
Homenewsतमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री ने अस्पताल में फ्रंट-लाइन वर्करों के साथ मनाया...

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री ने अस्पताल में फ्रंट-लाइन वर्करों के साथ मनाया पोंगल

चेन्नई: तमिलनाडु का सबसे खास पर्व पोंगल की आज से शुरूआत हो गई है। स्वास्थ्य मंत्री एमए सुब्रमण्यम ने जीएस मेडिकल अस्पताल में फ्रंट-लाइन वर्करों के साथ पोंगल मनाया। पोंगल तमिलनाडु में सबसे लोकप्रिय त्योहारों में से एक है। यह उत्सव नए साल की शुरूआत में मनाया जाता है। यह किसानाें के लिेए एक महत्वपूर्ण त्योहार माना जाता है।

इस त्यौहार का नाम पोंगल इसलिए है क्योंकि इस दिन सूर्य देव को जो प्रसाद अर्पित किया जाता है वह पगल कहलता है। तमिल भाषा में पोंगल का एक अन्य अर्थ निकलता है अच्छी तरह उबालना। दोनों ही रूप में देखा जाए तो बात निकल कर यह आती है कि अच्छी तरह उबाल कर सूर्य देवता को प्रसाद भोग लगाना। पोंगल का महत्व इसलिए भी है क्योंकि यह तमिल महीने की पहली तारीख को आरम्भ होता है। इस पर्व के महत्व का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि यह 4 दिनों तक चलता है। हर दिन के पोंगल का अलग अलग नाम होता है। यह जनवरी से शुरू होता है। पहली पोंगल को भोगी पोंगल कहते हैं। जो देवराज इन्द्र का समर्पित हैं। इसे भोगी पोंगल इसलिए कहते हैं क्योंकि देवराज इन्द्र भोग विलास में मस्त रहने वाले देवता माने जाते हैं। दूसरे दिन भगवान सूर्य की पूजा होती है और मीठा पोंगल उनको भेंट किया जाता है। तीसरा दिन पशुओं की देखभाल, पूजा तथा उनकी सेवाओं को मनाने के लिए होता है। मवेशियों को मोती, घंटी, अनाज, और फूलों की माला से सजाया जाता है और इसके बाद उनके मालिक और स्थानीय ग्रामीण उनकी पूजा करते हैं।