spot_img
HomenewsPoliticsखरसिया में खिलेगा 'कमल' या लोग कांग्रेस से ही मिलाएंगे 'हाथ'!

खरसिया में खिलेगा ‘कमल’ या लोग कांग्रेस से ही मिलाएंगे ‘हाथ’!

खरसिया- 2014 लोकसभा चुनावों के बाद बीजेपी लगातार अपना साम्राज्य बढ़ाने में लगी हुई है। पिछले लोकसभा चुनावों के बाद बीजेपी ने कांग्रेस को उन कई सीटों से हटाया जहां वह काफी समय से राज कर रही थी। पिछले चार सालों से चुनावी सिक्का पलटता गया और कांग्रेस की जगह हर प्रदेश में बीजेपी लेती गई, ऐसे में अब बारी में मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ की। आज बात करते हैं छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले की खरसिया विधानसभा सीट की जहां पिछले 40 साल से कांग्रेस राज कर रही है। प्रदेश के विधानसभा चुनावों के दौरान सरकारें बदलती रही, पर यहां हर चुनाव में कांग्रेस खुद को स्थापित करने में कामयाब होती रही।

बीजेपी अध्यक्ष की रणनीति जीताएगी यह सीट!

इस सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार नंदकुमार पटेल चुनाव लड़ते हैं और जीतते भी हैं। इस कांग्रेस नेता के नाम लगातार 22 बार विधायक बनने का रिकार्ड बन चुका है। पिछले विधानसभा चुनाव यानी 2013 में हुए चुनाव के समय इस सीट से नंदकुमार पटेल के बेटे ने चुनाव लड़ा था और जिले में बहुमत से जीता भी था। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने चुनावी दाव खेलते हुए इस सीट से अपने उम्मीदवार के रुप में पूर्व कलेक्टर ओपी चौधरी को खड़ा किया है, अब देखना यह होगा कि बीजेपी लोगों के दिलों से कांग्रेस को हटाकर खुद जगह पाती है।

कांग्रेस बरकरार रख पाएगी अपना रिकोर्ड!

 

छत्तीसगढ़ के खरसिया विधानसभा सीट के पिछले चुनावी नतीजों पर नजर डाले तो पिछले चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी उमेश पटेल को 95,470 वोट मिले थे और बीजेपी 56,582 वोटों में ही सिमट कर रह गई थी। बीजेपी ने 2013 के चुनावों में इस सीट से अपने उम्मीदवार और बीजेपी नेता जवाहरलाल नाइक को खड़ा किया था।