spot_img
Homenewsशिवपाल की पार्टी का हुआ रजिस्ट्रेशन, चुनाव आयोग से मिला ये नया...

शिवपाल की पार्टी का हुआ रजिस्ट्रेशन, चुनाव आयोग से मिला ये नया नाम…

सपा से अलग होकर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा गठित करने वाले उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने मंगलवार को एक कार्यक्रम में कहा कि हमारी पार्टी का रजिस्ट्रेशन हो गया है और उसे ‘प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया’ नाम मिला है। शिवपाल ने सपा से अलग होने के कारणों का जिक्र करते हुए किसी का नाम लिए बगैर कहा कि वह हमेशा सपा में एकजुटता चाहते थे, लेकिन कुछ चुगलखोरों और चापलूसों की वजह से उन्हें मजबूरन पार्टी को छोड़ना पड़ा।

शिवपाल ने कहा कि हमने लम्बे समय तक इंतजार किया लेकिन ना तो मुझे और ना ही मुलायम सिंह यादव को पार्टी से उचित सम्मान मिला। उन्होंने अपने समर्थकों को यह नसीहत भी दी कि किसी की चापलूसी ना करें। अगर कहीं कुछ गलत हो रहा है तो उसके बारे में किसी को बताने से हिचकिचाएं न, आप स्वतंत्र हैं और अपनी बात खुलकर रख सकते हैं।

उन्होंने कहा कि अपनी पार्टी को मैं यह आजादी दूंगा। सूत्रों की मानें तो पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सपा अध्यक्ष बनने के बाद शिवपाल ने उपेक्षा से नाराज होकर पिछली 29 अगस्त को समाजवादी सेक्युलर मोर्चे का गठन किया था जिसके बाद उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटों पर प्रत्याशी उतारने का एेलान किया था। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री शारदा प्रताप शुक्ला भी मौजूद थे। शिवपाल का स्वागत करते हुए शारदा ने कहा कि उनकी पार्टी आने वाले समय में उत्तर प्रदेश में बड़ी सियासी ताकत बनेगी।

मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने पिछले दिनों शिवपाल के साथ मंच साझा करते हुए कहा था कि वह अपने चाचा के साथ हैं। शिवपाल ने केन्द्र और उत्तर प्रदेश सरकार कार्यों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि दोनों ही जगह जनविरोधी सरकार है और उनकी गलत नीतियों और फैसलों से जनता परेशान है। नोटबंद और जीएसटी ने व्यापारियों के साथ-साथ पूरी अर्थव्यवस्था की कमर तोड़कर रख दी है।

वहीं उन्होंने भाजपा पर निशाना साथते हुए कहा कि भाजपा ने जनता से किए गए वादे अभी तक पूरे नहीं किये हैं जिसका जवाब उन्हें देश की अवाम आने वाले चुनावों में देगी।

यदि आप भी पत्रकारिता के क्षेत्र से जुड़ना चाहते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-