spot_img
Homeभक्ति धर्मMystery of Indian Historyमध्यकालीन इमारतों के अद्भुत नमूनों में से एक है मध्यप्रदेश का 'ग्वालियर...

मध्यकालीन इमारतों के अद्भुत नमूनों में से एक है मध्यप्रदेश का ‘ग्वालियर किला’

मध्यकालीन इमारतों के अद्भुत नमूनों में से एक है मध्यप्रदेश का ‘ग्वालियर किला’

मध्यकालीन इमारतों के अद्भुत नमूनों में से एक है मध्यप्रदेश का ‘ग्वालियर किला’। ग्वालियर का ये किला 3 Square किलोमीटर के दायरे में फैला है और ग्वालियर शहर का प्रमुख स्मारक है जो गोपांचल नामक छोटी-सी पहाड़ी पर स्थित है। पर क्या आप जानते हैं ये खूबसूरत किला किसने बनवाया था जहां मुगलों ने भी कई सालों तक राज किया?

मध्यप्रदेश में ग्वालियर के किले का निर्माण 8वीं शताब्दी में हुआ था। 3 Square  किलोमीटर के दायरे में फैले इस किले की ऊंचाई करीब 35 फीट है। यह किला मध्यकालीन इमारतों के अद्भुत नमूनों में से एक है। यह ग्वालियर शहर का प्रमुख स्मारक है जो गोपांचल नामक छोटी पहाड़ी पर स्थित है। लाल बलुए पत्थर से निर्मित यह किला देश के सबसे बड़े Forts में से एक है ।

किले की ऐतिहासिक धरोहरों में बुद्ध और जैन मंदिर, मगुजरी महल, मानसिंह महल, जहांगीर महल, करण महल, शाहजहां महल मौजूद हैं।

किला दो parts में बंटा है।
मुख्य किला और महल (गुजरी महल और मान मंदिर महल)।
इन किलों का निर्माण राजा मान सिंह ने करवाया था।
गुजरी महल का निर्माण उन्होंने अपनी प्रिय रानी मृगनयनी के लिए करवाया था।
अब गुजरी महल को पुरातात्विक संग्रहालय में तब्दील कर दिया गया है।
इस संग्रहालय में दुर्लभ मूर्तियां रखी गई हैं
जो पहली ईस्वी की हैं,
ये मूर्तियां यहीं के आसपास के इलाकों से प्राप्त हुई हैं।