spot_img
HomenewsSC/ST एक्ट के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन, प्रदर्शनकारियों ने हाइवे किया जाम

SC/ST एक्ट के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन, प्रदर्शनकारियों ने हाइवे किया जाम

 SC/ST एक्ट के खिलाफ देशभर के कई राज्यों में भारत बंद प्रदर्शन ने उग्र रूप लेना शुरु कर दिया है। इस एक्ट में किए गए संशोधन को लेकर कई संगठनों ने आज भारत बंद का ऐलान किया है। भारत बंद का सबसे ज्यादा असर एमपी और बिहार में देखा जा रहा है। वहीं राज्य सरकार ने मध्य प्रदेश में एहतियात के तौर पर कई जिलों में धारा 144 लागू कर दी है।

खबरों के मुताबिक, बिहार में प्रदर्शन ने उग्र रूप ले लिया है। कई जगहों से बंद समर्थकों व विरोधियों के बीच मारपीट की खबरें आ रही हैं। कई जिलों में प्रदर्शनकारियों ने नेशनल हाइवे जाम कर दिया है। सवर्णों ने आरा रेलवे स्टेशन के पास लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस को रोक दिया गया है। इसके अलावा यूपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी भारत बंद का असर देखने को मिल रहा है।

पिछली बार भारत बंद एससी/एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में दलित संगठनों ने 2 अप्रैल को भारत बंद का ऐलान किया था। तब सबसे ज्यादा हिंसा मध्य प्रदेश के ग्वालियर और चंबल संभाग में हुई थी। जिसकी वजह से इस बार मध्य प्रदेश के प्रशासन ने भारत बंद को देखते हुए पूरी तरह सतर्क हो गई हैं। भारत बंद को देखते हुए मध्य प्रदेश के तीन जिलों मुरैना, भिंड एवं शिवपुरी में एहतियात के तौर पर धारा 144 लगा दी गई और वहीं धारा 144 भारत बंद के अगले दिन यानी 7 सितंबर तक प्रभावी रहेगा।

बुधवार को भोपाल में कैबिनेट की बैठक में सपाक्स के SC/ST एक्ट में संशोधन के खिलाफ चलाए जा रहे विरोध प्रदर्शन का नाम लिए बगैर मुख्यमंत्री ने शांति की अपील की, जिसमें उन्होंने मंत्रियों से भारत बंद को लेकर कोई भी हिंसा न हो, इस पर नजर रखने के निर्देश दिए। साथ ही पुलिस को कानून व्यवस्था में सख्ती बरतने को कहा।ताकि विरोधी मंदसौर, नीमच, ग्वालियर जैसे कुछ शहरों में रैली के रूप में हिंसा ना कर सकें। वहीं, ग्वालियर पहुंचे भाजपा के प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे को भी आंदोलनकारियों ने काले झंडे दिखाने की कोशिश की।

बता दें मध्यप्रदेश पुलिस इंटेलीजेंस मकरंद देउस्कर ने बताया कि भारत बंद के चलते प्रदेश के सभी 51 जिलों की पुलिस को सतर्क रहने के निर्देश दें दिए गए हैं। वहीं शिवपुरी कलेक्टर शिल्पा गुप्ता, भिंड कलेक्टर आशीष कुमार गुप्ता व मुरैना कलेक्टर भरत यादव ने बताया कि धारा 144 के तहत जन सामान्य को जानमाल की रक्षा और लोक शांति बनाए रखने के लिए आदेश जारी किया गया है।

अगर आप पत्रकारिता में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आइए हमारे मीडिया इस्टीट्यूट में

यह भी देखें:-