spot_img
Homenewsसोनम कपूर के झूठा कहने पर, कंगना ने ऐसे दिया मुहंतोड़ जवाब...

सोनम कपूर के झूठा कहने पर, कंगना ने ऐसे दिया मुहंतोड़ जवाब…

बॉलीवुड की क्वीन कंगना रनौत एक बार फिर किसी पर काफी ज्यादा नाराज़ है और ये शख्सियत कोई और नहीं बल्कि अनिल कपूर की लाडली सोनम कपूर है। दरअसल, कंगना रनौत ने #MeToo मूमेंट के तहत अपने साथ हुई उत्पीड़न के अनुभव को साझा किया था जिसे सोनम कपूर ने संदेह की नजर से देखा था।

सोनम कपूर ने एक कार्यक्रम में तनुश्री दत्ता की नाना पाटेकर के खिलाफ आगे आने के लिए तारीफ की थी जबकि कंगना के बारे में उन्होंने कहा था,”कंगना बहुत कुछ कहती रहती हैं। कई बार उन पर यकीन करना मुश्किल हो जाता है। लेकिन अगर यह सच है तो दोषियों को सजा मिलनी चाहिए।” इस पर कंगना रनौत ने उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया है।

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने सोनम की टिप्पणी पर नाराज़गी जताते हुए कहा है- “उनका यह कहने से क्या मतलब है कि कंगना पर यकीन करना मुश्किल है…जब मैं अपनी #MeToo स्टोरी शेयर कर रही हूं…तो उसे किसने हक दिया कि वह मुझे जज करे? तो क्या सोनम कपूर के पास किसी महिला पर यकीन करने और किसी पर यकीन न करने का लाइसेंस है…आखिर वे मेरे दावों को लेकर इतना पुख्ता ढंग से कैसे बात कर सकती हैं।

मेरी पहचान साफ-साफ बात कहने के लिए है। कई अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों में मैंने अपने देश का प्रतिनिधित्व किया है। इन समिट्स में मुझे युवा अगुआ के तौर पर पहचान दी गई है। मेरी पहचान मेरे पिता की वजह से नहीं है, मैंने यह पहचान और विश्वसनीयता 10 साल के संघर्ष बाद हासिल की है…उनकी पहचान न तो अच्छी एक्ट्रेस के तौर पर है और न ही वह अच्छी वक्ता के तौर पर ही पहचानी जाती हैं….इन फिल्मी लोगों को मेरी बात पर चुटकी लेने का अधिकार कैसे मिला। मैं इन सबको भी बेनकाब कर दूंगी जैसे मैंने कुछ बेवकूफ लोगों को किया है।

 

 

कंगना रनौत ने आरोप लगाया है कि ‘क्वीन’ के डायरेक्टर विकास बहल (Vikas Bahl ) ने उन्हें फिल्म की शूटिंग के दौरान कई मौकों पर असहज महसूस कराया था। अभिनेत्री का यह बयान प्रोडक्शन हाउस ‘फैंटम फिल्म्स’ की एक महिला कर्मचारी द्वारा फिल्म निर्देशक पर छेड़छाड़ का आरोप फिर से लगाए जाने के बाद आया है।

कंगना ने एक बयान में कहा था, ‘मैं पूरी तरह से उस पर (महिला) विश्वास करती हूं। हम जब 2014 में ‘क्वीन’ फिल्म की शूटिंग कर रहे थे उस वक्त शादीशुदा होने के बावजूद भी बहल मेरे सामने यह शेखी भरते थे कि वह रोज-रोज एक नई लड़की के साथ यौन संबंध बनाते हैं। हम जब कभी भी मिलते थे वह मेरी गर्दन पर अपना चेहरा रखकर मुझे कसकर पकड़ते थे और मेरे बालों को सूंघते थे। मुझे उन्हें हटाने में काफी जोर लगाना पड़ता था’।