पंजाब में जेल में बंद 5800 कैदियों को छोड़ने की तैयारी, जानें इसकी वजह

0
30

जेल में बंद 5800 कैदियों को अगर एक साथ छोड़े जाने की बात हो तो कोई भी इसे जानकर चौंक जाएगा। लेकिन पंजाब में ऐसा होने जा रहा है। दरअसल कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच पंजाब सरकार ऐसा निर्णय लेने पर विचार कर रही है। मोहाली की जेल छोटे मामलों में बंद 5800 से ज्यादा कैदियों को पंजाब सरकार छोड़ सकती है। पंजाब के जेलमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधवा ने इस बात की जानकारी दी है। रंधावा का कहना है कि बीते कुछ वक्त से छोटे मामलों में जेल में बंद कैदियों को छोड़ने पर सरकार विचार कर रही है उन्होंने बताया कि कोरोना के चलते कुल 5800 कैदियों को छोड़ने का प्रस्ताव सरकार के पास भेजा गया है।

अब इसे बारे में अगला निर्णय सरकार को करना है। पंजाब में कोरोना वायरस संक्रमित एक मरीज सामने आ चुका है। ऐसे में पंजाब सरकार हर एहतियातन कदम को उठाने पर विचार कर रही है। बता दें कि भारत में अब तक कोरोना के 147 मामले सामने आ चुके हैं। आने वाले दिनों में मरीजों की संख्या और भी बढ़ने की आशंका है। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने सभी मुख्य सचिवों और जेल अधीक्षकों को नोटिस जारी कर कैदियों की वर्तमान स्थिति के बारे में पूछा था ऐसे में माना जा रहा है कि पंजाब सरकार का यह कदम इस वजह से भी हो सकता है।कोरोना वायरस ने दुनिया की रफ्तार को ही थाम दिया है।

इससे भारत भी अछूता नहीं है। लगातार कोरोना के मरीज सामने आने के बाद केंद्र और राज्य सरकारों ने भीड़ भरे इलाकों में लोगों के जमा होने पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस वजह से स्कूल, कॉलेजों की छुट्टियां घोषित हो गई हैं। वहीं सिनेमा हॉल, मॉल्स को भी बंद कर दिया गया है।बता दें कि WHO द्वारा कोरोना वायरस को वैश्विक आपदा के साथ ही महामारी घोषित किया जा चुका है। इसके साथ ही भारत में भी इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया गया है।