क्यों लगता है सूर्यग्रहण और इस बार कब से कब तक लगेगा ग्रहण?

0
171

सूर्य ग्रहण का नाम आते हैं हमारे दिमाग में कई अजीबो-गरीब ख्याल आने लगते हैं जैसे कि इस दौरान घर से बाहर जाना सही होगा की नहीं या पानी को ढक्कर रख दो इत्यादि। ज्योतिषियों के अनुसार ऐसा भी माना जाता है कि सूर्य ग्रहण का असर सभी राशियों पर पड़ता है औऱ इसका जहां कई राशिफल वालों को फायदा पहुंचता है वहीं कई राशिफल वालों को इसकी वजह से काफी नुकसान भी होता है। इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को पड़ रहा है जो अलग-अलग राशियों पर अपनी छाप छोड़ेगा पर इससे पहले आप सूर्य ग्रहण क्यों पड़ता है और इसका सही समय जान लीजिए।

इतने बजे तक रहेगा सूर्य ग्रहण!

सूर्य ग्रहण गुरूवार सुबह 8 बजकर 17 मिनट से लेकर सुबह 10 बजकर 57 मिनट तक रहेगा। आपको बता दें इस साल का ये तीसरा सूर्य ग्रहण होगा। इससे पहले छह जनवरी और दो जुलाई को सूर्य ग्रहण पड़ा था, पर ये दोनों ही आंशिक ग्रहण थे। इसलिए ये साल का पहला और आखिरी पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा।

कब लगता है सूर्य ग्रहण?

पृथ्वी सूर्य के चक्कर लगाती है और चंद्रमा पृथ्वी का और जब सूर्य के सामने चंद्रमा आ जाए और सूर्य की एक भी किरण पृथ्वी तक ना पहूंच पाएं तो उसे सूर्य ग्रहण कहते हैं। विज्ञान के अनुसार 18 साल में तकरीबन 41 सूर्य ग्रहण और 29 चंद्र ग्रहण आते हैं यानी एक साल में करीब चार से पांच ग्रहण पड़ते हैं, पर पिछले सालों के सूर्य ग्रहणों पर नजर डालें तो एक साल में तीन से चार सूर्य ग्रहण ही आते हैं।

विज्ञान की दृष्टि में सूर्य ग्रहण का महत्व

विज्ञान की दृष्टि में सूर्य ग्रहण का महत्व देखें तो जब चंद्रमा सूर्य को ढ़क लेता है तो इससे पृथ्वी पर कई प्रभाव देखने को मिलते हैं। साथ ही इस दौरान वायुमंडल से जुड़े कई अविष्कार सिद्द हुए हैं इसलिए ये समय वैज्ञानिकों के लिए किसी त्यौहार या खास उवसर से कम नहीं है। 1968 में सूर्य ग्रहण के दौरान ही हीलियम गैस की वायुमंडल में मौजूदगी सिद्द हुई थी और ऐसा एक नहीं बल्कि कई उदाहरण हैं जो सूर्य ग्रहण के दौरान प्रमाण हुए हैं।

इन-इन देशों में दिखेगा सूर्य ग्रहण

इस बार भारत, बांग्लादेश, नेपाल के कुछ हिस्सों में सूर्य ग्रहण नजर आएगा। बता दें कि पिछले दो सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं दिए थे तो साल का ये पहला और आखिरी सूर्य ग्रहण होगा जो दिखाई देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here