spot_img
HomenewsCrimeअनुसूचित जाति आयोग ने कहा धरनास्थल पर हुई हत्या के मामले से...

अनुसूचित जाति आयोग ने कहा धरनास्थल पर हुई हत्या के मामले से खुद को अलग नहीं कर सकते किसान नेता

सिंघू बॉर्डर पर हुई हत्या के खिलाफ दलित समुदाय भी लामबंद हो चुके हैं। दलित समुदाय के 15 संगठनों ने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला से मुलाकात की और सिंघु बॉर्डर के निकट किसान आंदोलन स्थल पर एक व्यक्ति लखबीर सिंह की नृशंस हत्या के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।

लखबीर सिंह का क्षत-विक्षत शव शुक्रवार को आंदोलन स्थल के निकट पाया गया था। श्री सांपला ने कहा कि घटना पर हरियाणा सरकार की रिपोर्ट आने के बाद अगली कार्रवाई का फैसला किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आयोग ने हरियाणा के पुलिस महानिदेशक और मुख्यसचिव को नोटिस भेजा है और घटना के बारे में पूरी रिपोर्ट मांगी है तथा कड़ी कार्रवाई करने को कहा है।

श्री सांपला ने कहा कि किसान नेता इस पूरी घटना से अपने को अलग नहीं कर सकते क्योंकि सभी आरोपी प्रदर्शनकारियों में शामिल थे। इसके अलावा घटना भी प्रदर्शन स्थल के निकट हुई।

लखबीर सिंह की हत्या के बाद खुद को इस मामले से अलग करने की कोशिश करने वाले किसान आंदोलन के नेताओं पर सांपला की यह टिप्पणी काफी अहम है।

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष से मिलने वाले संगठनों में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति परिसंघ, भारतीय बौद्ध संघ, रविदास विश्व महापीठ, दिल्ली, और वाल्मीकि महापंचायत शामिल थे।