spot_img
Homeदैनिक पूजाआरती'Uttar Pradesh- CM योगी आदित्य नाथ की अपील, जरूरतमंद परिवारों के साथ...

‘Uttar Pradesh- CM योगी आदित्य नाथ की अपील, जरूरतमंद परिवारों के साथ मनाएं दिवाली’

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी की सरकारी कर्मचारियों और प्रतिनिधियों से अपील, गरीब और जरूरतमंद परिवारों के साथ मनाएं दिवाली का त्योहार,

पूरे देश में चार नंवबर, गुरुवार को दिवाली  का त्योहार धूमधाम से मनाया जाएगा। इससे एक दिन पहले यानी कि छोटी दिवाली के दिन उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भव्य दीपोत्सव मनाया जाएगा। इस बीच यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों को दीपोत्सव और दीवाली की बधाई दी। इस दौरान सीएम योगी ने राज्य के सरकारी कर्मचारियों और प्रतिनिधियों से दिवाली पर गरीब परिवारों को गोद लेने के अपील की है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo पर लिखा कि ‘आस्था व आनंद की अलौकिक अभिव्यक्ति ’अयोध्या दीपोत्सव’ की सभी प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। आइए, लोक-मंगल एवं लोक-रंजन के भाव को साकार करें। जय श्री राम।’

सीएम ने एक अन्य कू में कहा कि दीप से दीप जलाने और व्यक्ति से व्यक्ति को जोड़ने का पर्व है दीपोत्सव। मेरी अपील है कि सभी जनप्रतिनिधि, अधिकारी व कर्मचारी किसी एक वंचित एवं जरूरतमंद परिवार के संग दीपावली पर्व को पूरे उत्साह व आनंद के साथ मनाएं। इसी में पर्व की सार्थकता है। जय श्री राम!’

अयोध्या में दीपोत्सव के मौके पर कुल 12 लाख दीये, अयोध्या में दीपोत्सव पर 84 कोस में सजी रामनगरी,

अयोध्या का दीपोत्सव देश और दुनिया के लिए एक महत्वपूर्ण आयोजन बन गया है। बता दें कि अयोध्या में दीपोत्सव के मौके पर कुल 12 लाख दीये जलाए जाएंगे। अयोध्या में दीपोत्सव पर 84 कोस में सजाई गयी हैं रामनगरी, इसमें से नौ लाख दीए अयोध्या में सरयू के तट पर जलाए जाएंगे। शेष तीन लाख दीए मंदिरों और मठों में जगमगाएंगे।

चौदह साल का पूरा हुआ वनवास,सीएम योगी आदित्य नाथ दीप जलाकर प्रभु राम की करेंगे अगवानी

आखिरकार चौदह साल का वनवास पूरा करके अपने गृह नगर लौट रहे प्रभु श्रीराम के स्वागत की संपूर्ण भावभूमि आकार ले चुकी है। बुधवार दोपहर सरयू किनारे रामकथा पार्क में पुष्पक विमान स्वरूप हेलीकॉप्टर से प्रभु राम, सीता व लक्ष्मण उतरेंगे। वहां राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत विभिन्न मंत्री और संत-धर्माचार्य दीप सजाकर प्रभु की अगवानी करेंगे।

इसके बाद वे गुरू वशिष्ठ की भूमिका में भगवान श्रीराम का राजतिलक करेंगे। सीएम रामलला के दरबार भी जाएंगे। इसके बाद सीएम, राज्यपाल सहित कई मंत्री मां सरयू की भव्य आरती भी उतारेंगे।