Saturday, April 4, 2020
Home Tags श्री श्री 1008 गुरु कमलानंद जी महाराज

Tag: श्री श्री 1008 गुरु कमलानंद जी महाराज

यज्ञ देवता की आरती | Aarti

0
हे यज्ञ देवता नमस्कार है महिमा तेरी अति अपार, है..... जय वायु शुद्ध करने वाले, भक्तों का दुःख हरने वाले। सुख शांति धन वैभव आदी, भक्तों के...

सूर्य देव जी की आरती | Aarti

0
ॐ जय सूरज देवा-स्वामी जय सूरज देवा। कश्यम-अदिति दुलारे-2, करो सुफल सेवा।। पुण्य बढ़ावन हारे-पावन सुखदाई। स्वामी... करत पाप को नाशा-2, देखत भई जाई।। ॐ जय... भक्त जनों...

श्री देवी जी की आरती | Aarti

0
जगजननी जय! जय!! (मां! जगजननी जय! जय!!) भयहारिणि, भवतारिणि, भवभामिनि जय! जय!! जग. तू ही सत-चित-सुखमय शुद्ध ब्रह्मरूपा। सत्य सनातन सुंदर पर-शिव सुर-भूपा।। जग. आदि अनादि अनामय अविचल...

श्री शिव जी की आरती | Aarti

0
जय शिव ओंकारा भजो हर शिव ओंकारा। ब्रह्म विष्णु सदा शिव अर्धाग्डिनि धारा।। ॐ जय... एकानन-चतुरानन-पंचानन राजे।। हंसासन-गुरूड़ासन, वृषवाहन साजै।। ॐ जय.... दो भुज चार चर्तुभुज, दस भुज...

शनिदेव जी की आरती | Aarti

0
ॐ जय-जय शनिदेवा, स्वामी जय-जय शनिदेवा। बाधा पास न आवे, बाधा पास न आवै, करे चरण सेवा। ॐ... जय-जय शनिदेवा... सूर्य देव-छाया सुत, अतुलित बलधरी। जो जन शरण...

सामूहिक आरती | Aarti

0
आरती जय गजबदन तुम्हारी। दूर करो प्रभु विपत हमारी। आरती जय.......... जय रिद्धि सिद्धि दातार गजानन। श्वेत शरीर श्वेत पट धारण। कृपा दास पर कीजै मेरे देवा।।...

नवदुर्गा व नवग्रह आरती | Aarti

0
सद् गुरू किरपा पाई-माता तेरी आरती सजाई। श्री गणपति को मनाई-माता तेरी आरती सजाई।। यज्ञ पुरूष का धरि हिय ध्याना। आहुति डारि पाई वरदाना।। शिव-शिव कीरति गाई .....माता...

मैया रिद्धि दे, सिद्धि दे | Aarti

0
मैया रिद्धि दे, सिद्धि दे, अष्ट नव सिद्धि दें, वंश में बुद्धि दे, माँ वाक वाणी।। हृदय में ज्ञान दे, चित्त में ध्यान दे, महा वरदान दे,...

काली मैया जी की आरती | Aarti

0
जय माता काली, मैया जय श्यामा काली। दुःख दूर कर मेरे, संतन प्रतिपाली।।  कटि पर भुजा बिराजे, गल मुंडल माला। मस्तक पर शशि सोहे, सकल वंदन काला।।...

हनुमान जी की आरती | Aarti

0
ॐ जय हनुमत बांके स्वामी जय हनुमत बांके। तुम्हारे बल पराक्रम से रावण दल कांपे।। कटि पर लाल लंगोट विराजे, कर में गदाधरी। असुरानंद निरखते, रावण से...

MOST POPULAR

HOT NEWS