दीपावली पर महालक्ष्मी पूजन का ये है शुभ मुहूर्त, भूलकर भी ना करें इस समय पूजन

0
83
दीपावली पर महालक्ष्मी पूजन कार्तिक कृष्ण अमावस्या में प्रदोषकाल (सायं काल) और अर्ध्दरात्रि (आधी रात) हो तो अत्यंत शुभ माना जाता है। इस बार कार्तिक कृष्ण पक्ष की अमावस्या का संयोग दो दिन का बन रहा है। इस वर्ष अमावस्या 27 अक्तूबर (रविवार) दोपहर 12 बजकर 23 मिनट से 28 अक्तूबर (सोमवार) को सुबह 9 बजकर 8 मिनट तक रहेगी। दीपावली पांच पर्वों का महोत्सव माना जाता है जो त्रयोदशी यानी धनतेरस से शुरू होकर कार्तिक शुक्ल द्वितीया यानी भैया दूज तक देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है। दीपावली पर घर में मां लक्ष्मी पूजन शाम से प्रारम्भ कर आधी रात तक मां लक्ष्मी के मंत्रों का जाप अत्यंत लाभकारी सिद्ध होता है। आइये जानते हैं इस महोत्सव में किस दिन कौन-सा समय पूजा के लिए अत्यंत शुभ है।

धनतेरस पर पूजा का शुभ मुहूर्त

धनतेरस (25 अक्तूबर) वृष लग्न में पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 5:41 बजे से 7:35 बजे तक का है और सिंह लग्न में पूजा का शुभ मुहूर्त रात्रि 12 बजकर 12 मिनट से लेकर रात्रि 2 बजकर 32 मिनट तक का है।

छोटी दीपावली पर पूजा का शुभ मुहूर्त

छोटी दीपावली (26 अक्तूबर) वृष लग्न में पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 5:37 बजे से 7:32 बजे तक का है और सिंह लग्न में पूजा का शुभ मुहूर्त रात्रि 12 बजकर 8 मिनट से लेकर रात्रि 2 बजकर 28 मिनट तक का है।

दीपावली पर पूजा का शुभ मुहूर्त

दीपावली (27 अक्तूबर) पर मां लक्ष्मी की विशेष कृपा पाने के लिए इस शुभ मुहूर्त में ही पूजा करें। दीपावली पर मां लक्ष्मी की पूजा का वृष लग्न में शुभ मुहूर्त शाम 5:33 बजे से 7:28 बजे तक का है और सिंह लग्न में पूजा का शुभ मुहूर्त रात्रि 12 बजकर 5 मिनट से लेकर रात्रि 2 बजकर 24 मिनट तक का है।

गोवर्धन पूजा का शुभ मुहूर्त

वृष लग्न में गोवर्धन पूजा (28 अक्तूबर) का शुभ मुहूर्त शाम 5:29 बजे से लेकर 7:24 बजे तक का है और सिंह लग्न में पूजा का शुभ मुहूर्त रात्रि 12 बजकर 1 मिनट से रात्रि 2 बजकर 20 मिनट तक का है।

भैया दूज

भैया दूज (29 अक्तूबर) को वृष लग्न में पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 5:25 से शाम 7:20 बजे तक का है और सिंह लग्न में पूजा का शुभ मुहूर्त रात्रि 11 बजकर 57 मिनट से लेकर रात्रि 2 बजकर 16 मिनट तक का है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here