IPPB का पीएम ने किया उद्धघाटन, अब आपका बैंक होगा आपके द्वार

0
433

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक का उद्धघाटन कर दिया है। इसका उद्देश्य डाकघरों के माध्यम से देश के लोगों को बैंकिग सुविधाओं का आसानी से लाभ पहुंचाना है। इस योजना के तहत 1 सितंबर से आईपीपीबी की 650 शाखाएं और 3,250 सुविधा केन्द्र सक्रिय हो जाएंगे। ये बैंक भारत सरकार की सौ प्रतिशत हिस्सेदारी से अस्तित्व में आया है। इस मुहिम के तहत 1.55 लाख डाकघरों को 31 दिसम्बर 2018 तक आईपीपीबी प्रणाली से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है।

ये होंगी IPPB की 6 प्रमुख बातें
1. ये उन ग्रामीण इलाकों तक बैंकिंग सेवाएं पहुंचाएगा जहां सामान्य बैंक की पहुंच नहीं है।

2. इसका मूलमंत्र है -‘आपका बैंक, आपके द्वार’ यानी ग्राहक को बैंक जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी , बल्कि डाकियों के माध्यम से बैंक ग्राहक तक पहुंचेगा।

3. इसके तहत बचत खाता, चालू खाता, मनी ट्रांसफर के अलावा बिल, यूटिलिटी और व्यापारिक भुगतान जैसी तमाम सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

4. खाताधारक को अपना खाता या पिन नंबर आदि याद रखने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी

5. इसमें अधिकतम एक लाख रुपये ही जमा कराये जा सकते हैं। इससे अधिक राशि स्वत ही डाकघर बचत बैंक खाते में जमा हो जाएगी।

6. ग्राहक को एक क्यूआर कार्ड मिलेगा और डाकिये के पास पीओएस मशीन होगी। पैसा जमा करने या भेजने के लिए क्यूआर कार्ड को पीओएस मशीन में डालने के बाद ग्राहक की अंगुली का इस्तेमाल किया जाएगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक देश का सबसे किफायती और भरोसेमंद बैंक साबित हो सकता है। इसके माध्यम से देश के किसी भी कोने में बैठे व्यक्ति तक बैंकिग व्यवस्था का लाभ आसानी से और शीघ्रतम पहुंचाने की कोशिश भारत सरकार की तरफ से की जा रही है।

सरकार के इस कदम की काफी तारीफ की जा रही है। उत्कृष्ट उत्थान सेवा मंडल की अध्यक्षा रचना वाजपेयी जी ने भी भारत सरकार के इस कदम को भारतीय इतिहास का सबसे बड़ा आर्थिक उद्धार करार दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here