Holi 2020 Special: इस मुहूर्त में ही करें होलिका दहन, बनेंगे ये संयोग

0
419

भारत देश में मुहूर्त पर बहुत जोर दिया जाता है चाहे वो किसी त्यौहार को मनाने का हो या किसी पूजा-पाठ, हवन का। बुजुर्गों के मुताबिक अगर कोई काम शुभ मुहूर्त या समय में शुरु किया जाए तो वो अच्छी तरह से पूर्ण होता है और हमें उस काम में कामयाबी मिलती है। रंगों और खुशियां का त्यौहार होली दो दिन बाद है, तो आइये जानते हैं कि किस मुहूर्त और समय में होलिका पूजन और दहन करना आपके लिए लाभकारी होगा।

होलिका दहन का शुभ मुहूर्त

होलिका दहन के लिए सबसे उत्तम और शुभ काल प्रदोष काल माना जाता है। प्रदोष काल शाम या सूर्यस्त का वो समय होता है जो भगवान शिव की अराधना के लिए शुभ माना जाता है। इस बार होली 9 और 10 मार्च को है। 9 मार्च को शाम को होलिका दहन किया जाएगा। होलिका दहन का शुभ मुहूर्त 6:22 से 8:49 मिनट तक का है।

बता दें इस बार होलिका दहन के मौके पर कई सुभ संयोग बन रहे हैं। इस बार होलिका दहन के मौके पर गुरु और शनि दोनों सूर्य के नक्षत्र में होंगे, इसलिए इस बार 9 मार्च होलिका दहन का ये दिन सभी राशियों के लिए शुभ होगा।

पूजा के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

साथ ही पूजा के दौरान कुछ बातों का खास ख्याल रखें। पूजा के दौरान हम अक्सर छोटी-छोटी बातें भूल जाते हैं जिनका महत्व अधिक होता है।

  • होलिका दहन के लिए जब सामग्री सजाएं तो उनमें अलग से चार मालाएं जरुर रख लें जिनमें से एक माला पितरों की और अन्य तीन भगवान और परिवार के नाम की होती है।
  • पूजन के समय अगर आप शीतला माता का कोई मंत्र बोलेंगे तो आपके लिए होलिका पूजन और भी लाभकारी बन जाएगा।
  • पूजन के समय होलिका की परिक्रमा कम से कम तीन बार अवश्य करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here