LATEST ARTICLES

आरती युगल किशोर कृष्ण जी की ( Yugal Kishore Krishna Ji...

0
आरती युगलकिशोर की कीजै। तन मन धन न्योछावर कीजै॥ गौरश्याम मुख निरखन लीजै। हरि का रूप नयन भरि पीजै॥ रवि शशि कोटि बदन की शोभा। ताहि निरखि मेरो मन...

श्री बाल कृष्ण जी की आरती (Sh Bal Krishna Ji...

0
आरती बाल कृष्ण की कीजै, अपना जन्म सफल कर लीजै ॥ श्री यशोदा का परम दुलारा, बाबा के अँखियन का तारा । गोपियन के प्राणन से प्यारा, इन पर...

वृंदावन बांके बिहारी कृष्ण जी की आरती (Vrindavan Banke Bihar...

0
श्री बांके बिहारी तेरी आरती गाऊं, हे गिरिधर तेरी आरती गाऊं । आरती गाऊं प्यारे आपको रिझाऊं, श्याम सुन्दर तेरी आरती गाऊं । ॥ श्री बांके बिहारी ॥ मोर...

आओ भोग लगाओ आरती (Aao Bhog Lagao Aarti)

0
आओ भोग लगाओ मेरे प्यारे मोहन दुर्योधन को मेवा त्यागो, साग विदुर घर खायो प्यारे मोहन, आओ भोग लगाओ मेरे प्यारे मोहन भिलनी के बैर सुदामा के तंडुल रूचि...

श्री हनुमान जी बालाजी आरती (Shri Balaji Hanumanji Ki Aarti)

0
ॐ जय हनुमत वीरा, स्वामी जय हनुमत वीरा। संकट मोचन स्वामी, तुम हो रनधीरा ॥ ॥ ॐ जय हनुमत वीरा ॥ पवन पुत्र अंजनी सूत, महिमा अति...

झूंझनू श्री राणी सती दादी जी की आरती (Jhunjhnu Rani Sati...

0
ॐ जय श्री राणी सती माता, मैया जय राणी सती माता । अपने भक्त जनन की, दूर करन विपत्ती ॥ ॐ जय श्री राणी सती माता, मैया जय राणी...

श्री चिंतपूर्णी देवी (छिन्नमस्ता जी) की आरती (Chintapurni Chinnamasta Maa...

0
चिंतपूर्णी चिंता दूर करनी, जग को तारो भोली माँ   जन को तारो भोली माँ, काली दा पुत्र पवन दा घोड़ा ॥ ॥ भोली माँ ॥   सिन्हा पर भाई...

पर्वतवासिनी विन्ध्येश्वरी मां की आरती (Parvat Vasini Maa Vindheshwari ki Aarti)

0
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी । कोई तेरा पार ना पाया ॥ पान सुपारी ध्वजा नारियल । ले तेरी भेंट चडाया ॥ ॥ सुन मेरी देवी पर्वतवासनी ॥ सुवा चोली...

मां नर्मदा जी आरती (Maa Narmada ji Aaarti)

0
ॐ जय जगदानन्दी, मैया जय आनंद कन्दी । ब्रह्मा हरिहर शंकर, रेवा शिव हरि शंकर, रुद्रौ पालन्ती ॥ ॥ ॐ जय जगदानन्दी ॥ देवी नारद सारद तुम वरदायक, अभिनव पदण्डी...

श्री रामायण जी की आरती (Ramayan ji Aaarti Book)

0
आरती श्री रामायण जी की । कीरति कलित ललित सिय जी की ॥ गावत ब्रहमादिक मुनि नारद । बाल्मीकि बिग्यान बिसारद ॥ शुक सनकादिक शेष अरु शारद । बरनि...