चैतुरगढ़ किले के इस मंदिर में मौजूद है महिषासुर मर्दिनी की 12 हाथों वाली मूर्ति

0
437

प्रसिद्ध चैतुरगढ़ का किला छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित है जिसे लाफागढ़ किले के नाम से भी जाना जाता है। इस किले का प्राकृतिक महत्व तो है ही लेकिन साथ ही इस किले को वास्तुकला की दृष्टि से देखा जाए तो इसका महत्व और भी बढ़ जाता है। प्रसिद्ध महिषासुर मर्दिनी मंदिर भी इसी किले में मौजूद है। इस मंदिर में महिषासुर मर्दिनी की 12 हाथों वाली मूर्ति स्थापित की गयी है जो इस किले को और भी खास बना देती है।

इस मंदिर से 3 किमी दूर पर एक शंकर गुफा भी है। ये गुफा एक सुरंग की तरह है जो 25 फुट की है। इस गुफा का आकार बहुत छोटा होने के कारण इसमें से रेंगते हुए ही जाना पड़ता है। किले में मेनका, हुम्कारा और सिंहद्वार नाम के तीन सबसे अहम द्वार हैं। सबसे बड़ी और चौंकाने वाली बात यह है कि इतनी ऊंचाई पर होने के बाद इसके सबसे ऊपर के इलाके में एक नहीं बल्कि पूरे पांच तालाब है और उनमें से ज्यादातर तालाबों में साल भर पानी भरा रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here